कुशीनगर:सावनकेअंतिमदिनरविवारकोक्षेत्रकेशिवालयोंमेंआस्थाकासैलाबउमड़पड़ा।प्रात:कालसेहीकुबेरधाममंदिरवआसपासकावातावरणहर-हरमहादेवकेजयघोषसेगूंजउठा।महिला,पुरुषऔरबच्चेसभीभक्तिभावकेरंगसेसराबोरदिखे।

कुबेरधामवप्रसिद्धसिधुवांबाबास्थानमेंसुबहभक्तोंकेआनेकाक्रमशुरूहुआतोफिरदेरतकचलतारहा।बेलपत्र,भांग,धतूराआदिचढ़ापारंपरिकढंगसेपूजनकरलोगोंनेभगवानशिवसेआर्शीवादमांगा।कुबेरधाममेंश्रद्धालुओंनेरुद्राभिषेकवकीर्तनआदिआयोजितकिया।भंडारेकाआयोजनकियागया,जहांप्रसादग्रहणकरनेकेलिएबड़ीसंख्यामेंश्रद्धालुउपस्थितरहे।आचार्यप्रद्युम्नपांडेय,महंतराजकुमारगिरी,विनोदगिरी,उमेशमिश्र,जनार्दनमिश्र,राजेंद्रपांडेय,राजेंद्रगिरीआदिव्यवस्थामेंलगेरहे।सुरक्षाव्यवस्थाकोलेकरएसओसंजयकुमार,दारोगाकन्हैयायादव,अजीतयादवसहितबड़ीसंख्यामेंपुलिसकर्मीमौजूदरहे।करहियांशिवमंदिरमेंभीसुबहसेराततकश्रद्धालुओंकीभीड़लगीरही।गायत्रीमंदिरसहितसभीमंदिरोंमेंभक्तोंकीभीड़लगीरही।

हाटाक्षेत्रकेशिवमंदिरोंमेंश्रद्धालुओंकीभीड़रही।भक्तोंनेभगवानशिवकोभांग,धतूरा,गन्नाआदिअर्पितकरमंगलकामनाकी।लोगोंनेव्रतरखा।उपनगरकेकरमहारोडस्थितकाशीविश्वनाथमंदिर,महादेवछपरास्थितशिवमंदिर,सुदामाचकस्थितशिवालय,ढाढास्थितशिवमंदिर,सुकरौलीस्थितशिवालय,सेंदुआरस्थितशिवालयआदिमंदिरोंमेंश्रद्धालुओंकीभीड़बनीरही।हरहरमहादेवकेघोषसेशिवालयगूंजतेरहे।

संस्कृतिऔरसंस्कारकीबदौलतविश्वमेंअलगपहचान:प्रदीपसंस्कृतिऔरसंस्कारोंकीबदौलतहीविश्वमेंहमारेदेशकीपहचानहै।इसेजीवंतरखतेहुएइससेसीखलेकरसमाजकोआइनादिखानाहमसबकादायित्वहै।इससेदूरहोनेपरहमखुदअपनीपहचानखोदेंगे।

यहबातेंपूर्वजिलापंचायतअध्यक्षप्रदीपजायसवालनेकहीं।वहबभनौलीबाजारकेदुर्गामंदिरपरिसरमेंआयोजितदोदिवसीययज्ञकेसमापनअवसरपरस्वागतएवंसम्मानसमारोहकोसंबोधितकररहेथे।उन्होंनेकहाकिकोरोनाकालकेबावजूदजिलेमेंविकासकार्योंकोतेजीसेआगेबढ़ानेकाकामकरेंगे।जलभरावकेकारणकिसानोंकाभारीनुकसानहोरहाहै,इसलिएजनप्रतिनिधिअधिकसेअधिकजलनिकासीकेलिएप्रस्तावदें।जिपंसमुकेशगुप्ता,पूर्वजिपंसमनोजगुप्तानेभीसंबोधितकिया।आयोजकजिपंसडा.बीएनप्रसादनेआभारप्रकटकिया।संचालनअवधकिशोरनिगमनेकिया।इसदौरानडा.पवनसिंह,श्रीकांतगुप्ता,कृपाशंकरयादवआदिमौजूदरहे।

By Daniels